Monica O My Darling Review: इस फिल्म में है सस्पेंस का जाल; सुलझाना है मुश्किल, देखने में आएगा मजा

New Hindi Film On OTT: मोनिका ओ माई डार्लिंग के शुरुआती मिनटों में मोनिका (हुमा कुरैशी) जब जयंत अरखेड़कर (राजकुमार राव) को बताती है कि वह उससे प्रेग्नेंट है, तभी जयंत का फोन बजता है.

मोनिका कहती है, ‘तू जिम्मेदारी तो उठाएगा नहीं, फोन ही उठा ले.’ फोन है जयंत की मंगेतर निक्की (आकांक्षा रंजन कपूर) का.

निक्की उस यूनिकॉर्न रोबोटिक्स कंपनी के मालिक सत्यनारायण अधिकारी की बेटी है, जिसमें जयंत को अभी-अभी प्रमोशन मिला है और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में जगह भी.

तभी आप समझ जाते हैं कि कहानी में सस्पेंस की बुनियाद रख दी गई है. लेकिन यह सस्पेंस तब बुरी तरह चौंकाता है जब एक होटल में जयंत, अधिकारी का बेटा निशिकांत (सिकंदर खेर) और कंपनी का अकाउंटेंट अरविंद (भगवती पेरूमल) मिलते हैं.

जयंत को पता चलता है कि मोनिका इन दोनों को भी यह कहते हुए फंसा रही है कि उसके पेट में इनका बच्चा है!

अब क्या किया जाएॽ तीनों मिलकर तय करते हैं कि उन्हें मोनिका से खतरा है और किसी दिन वह उनकी जिंदगी खतरे में डाल देगी.

अतः बेहतर है कि मोनिका का कत्ल करके ठिकाने लगाया जाए. फुलप्रूफ प्लान बनता है और एक रात उस पर अमल भी होता है.

मगर अगले दिन मोनिका ऑफिस की मीटिंग में पहुंचती है और फिर एक के बाद एक हत्याओं का सिलसिला शुरू होता है! आखिर यह क्या मामला हैॽ